Ankita Murder Case, Dumka: स्पेशल कोर्ट में ट्रांसफर हुआ अंकिता सिंह का केस, जानें पोस्टमार्टम रिपोर्ट में क्या है?

 Ankita Murder Case, Dumka: स्पेशल कोर्ट में ट्रांसफर हुआ अंकिता सिंह का केस, जानें पोस्टमार्टम रिपोर्ट में क्या है?

अंकिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट दुमका पुलिस को भेज दी गई है. रिपोर्ट में यह स्पष्ट किया गया है कि अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ से अंकिता को जलाया गया था. जलने से शरीर की परत पर मवाद भर गए थे. इस वजह से उसके शरीर के अंगों ने भी धीरे-धीरे काम करना बंद कर दिया और उसकी जान चली गई.

झारखंड के दुमका की अंकिता सिंह हत्याकांड में मुख्य आरोपी शाहरुख और उसके दोस्त नईम उर्फ छोटू पर POCSO की धाराएं लगा दी गई हैं. इससे पहले झारखंड पुलिस ने अंकिता को बालिग माना था, लेकिन अब उसे नाबालिग मानकर आरोपियों पर POCSO की धाराएं जोड़ दी गई है. इस बीच अंकिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट दुमका पुलिस को भेज दी गई है. 

अंकिता के शव का पोस्टमार्टम रांची स्थित रिम्स के फोरेंसिक मेडिसिन एंड टॉक्सिकोलॉजी (एफएमटी) विभाग में हुआ था. रिपोर्ट में यह स्पष्ट किया गया है कि अत्यधिक ज्वलनशील पदार्थ से अंकिता को जलाया गया था. जलने से शरीर की परत पर मवाद भर गए थे. इस वजह से उसके शरीर के अंगों ने भी धीरे-धीरे काम करना बंद कर दिया और उसकी जान चली गई.

अंकिता के पोस्टमार्टम के बाद बिसरा सुरक्षित रख लिया गया है, जिसकी फॉरेंसिक जांच होगी. अंकिता का केस मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (सीजेएम) दुमका की अदालत से प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह विशेष न्यायालय प्रकाश चन्द्रा की अदालत में ट्रांसफर कर दिया गया है. त्वरित सुनवाई के लिए इस केस को स्पेशल कोर्ट में ट्रांसफर किया गया. 

23 अगस्त को दुमका के जरुवाडीह की अंकिता पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दी गई थी. रिम्स में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी. इस मामले में दो आरोपियों शाहरुख और नईम उर्फ छोटू को पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. दुमका नगर थाना में भारतीय दंड विधान की धारा 302, 34 और 120बी और पोक्सो एक्ट की धारा 12 के तहत प्राथमिकी (कांड संख्या 200/22) दर्ज की गई है.

इस केस को विशेष अदालत में ट्रांसफार करने के साथ केस से जुड़े सभी दस्तावेज भी वहीं भेज दिए गए. आरोपी शाहरुख और उसके सहयोगी नईम उर्फ छोटू को पुलिस ने अदालत से 72 घंटे की पुलिस रिमांड पर लिया है. पुलिस रिमांड में दोनों से पूछताछ कर यह जानकारी

यह जानकारी ली जाएगी कि अंकिता हत्याकांड में और कितने लोग शामिल हैं?

अंकित मर्डर केस को लेकर बीजेपी लगातार हेमंत सोरेन सरकार पर हमलावर है. कल बीजेपी का एक दल अंकिता के परिवार वालों से मिला. इस दल में दिल्ली से बीजेपी सांसद मनोज तिवारी, कपिल मिश्रा शामिल थे. इससे पहले बीजेपी नेता बाबूलाल मरांडी, अर्जुम मुंडा, समेत कई नेता पहुंचे थे. 

परिवार के बातचीत के बाद BJP नेताओं ने एक सुर में अंकिता हत्याकांड को पीएफआई से लेकर बांग्लादेशी आतंकी संगठन और लव जेहाद से जोड़ गहरी साजिश की आशंका जताई.

Iram Khan

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published.